गुस्ल (Gusal) करने का मुकम्मल तरीका | गुस्ल ए जनाबत

गुस्ल (Gusal) करने का मुकम्मल तरीका | गुस्ल ए जनाबत

नापाकी में हमारा गुस्ल (Gusal) करना जरूरी हो जाता है नापाकी में बिना गुस्ल किए न हम क़ुरआन को पढ़ और छू सकते हैं और न ही नमाज़ पढ़ सकते हैं

Read More