Gheebat

Gheebat (घीबत) का गुनाह – घीबत करने वाले का अंजाम

Gheebat जिना से भी बदतर अजाब है और इसकी वजह यह है कि कोई वक्त बदकारी में मुब्तिला होता है तो उसकी तौबा कर लेता है लेकिन घीबत की तौबा से भी माफी नही

Read More
Maa baap ki khidmat

Maa baap ki khidmat | Musa Alehissalam aur ek kasai ka waqiya

Maa baap ki khidmat करने से ही ज़िंदगी आसान है नही तो जिंदगी और आख़िरत दोनों में सुकून नही है माँ बाप की खिदमत में जो सुकून है वो किसी और चीज़ में नही है

Read More
dua karne ka tarika

Dua karne ka tarika -Allah se dua mangna

Dua karne ka tarika: दुआ एक कैफियत का नाम है ये जो लोग कहते हैं मेरे लिए खास दुआ करो जरूर एक दूसरे के लिए दुआ करो और एक दूसरे को दुआ की दरख्वास्त भी करो।

Read More
इस्तिखारा (Istikhara) करने का तरीका

इस्तिखारा (Istikhara) करने का तरीका

जब हमें किसी चीज़ को करने या चुनने में कन्फ्यूजन हो तब हम हमारे दिल की तसल्ली के लिए अल्लाह की राह में इस्तिखारा (Istikhara) करते हैं

Read More
क्या मय्यत सुनती और बोलती है? - Mayyat ka sunna aur bolna

क्या मय्यत सुनती और बोलती है? – Mayyat ka sunna aur bolna

सहीह बुखारी और मुस्लिम की हदीसों से mayyat ka sunna aur bolna साबित है आप सल्लाहो अलैहि वसल्लम ने फरमाया की जब लोग मुर्दे को दफनाकर जा रहे होते हैं तो वह…

Read More
वुजू करने का मुकम्मल और सही तरीका | wuzu ka tarika

वुजू करने का मुकम्मल और सही तरीका | wuzu ka tarika

wuzu ka tarika: सहीह बुखारी और मुस्लिम की हदीस है कि आप सल्ललाहो अलैहि वसल्लम ने फरमाया की जो शख्स अच्छी तरह वुजू करे और अपने अजाब को सही तरह से धोए तो…

Read More
गुस्ल (Gusal) करने का मुकम्मल तरीका | गुस्ल ए जनाबत

गुस्ल (Gusal) करने का मुकम्मल तरीका | गुस्ल ए जनाबत

नापाकी में हमारा गुस्ल (Gusal) करना जरूरी हो जाता है नापाकी में बिना गुस्ल किए न हम क़ुरआन को पढ़ और छू सकते हैं और न ही नमाज़ पढ़ सकते हैं

Read More